सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र ने भावूक होकर आयरन मैन जॉर्ज फर्नांडिश यूं अंदाज में दी श्रंद्धाजलि।

रेत पर आकृति उकेर भारतीय क्रांतिकारी नेता जॉर्ज फर्नांडिश को दी श्रंद्धाजलि
विकास कुमार 
घोड़ासहन/मोतिहारी : प्रखर समाजवादी नेता व पूर्व रक्षा मंत्री 88 वर्षीय जॉर्ज फर्नांडिस के निधन पर राजनीतिक जगत में शोक का माहौल है। पार्टी कार्यालयों शोक सभाओं का आयोजन किया जा रहा है। हर कोई दिवंगत व क्रांतिकारी नेता को श्रद्धांजलि अर्पित कर रहा है।

इसी क्रम में सूबे के लाल व रेत कला के महानायक मधुरेन्द्र कुमार भी पूर्वी चंपारण जिले के घोड़ासहन के श्रीपुर कसवा गांव में बुधवार को बालू के रेत पर अपनी कला के जरिए शोक प्रकट करते श्रंद्धाजलि दी। 

रेत पर जॉर्ज साहब की प्रतिमा उकेर मीडिया से बातचीत के दौरान दिवंगत नेता को याद करते हुए सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र काफी भावुक हो गए। उनकी डबडबाई आंखें साफ नजर आ रही थीं। जॉर्ज साहब के निधन से हम सभी मर्माहत हैं। पिछले कुछ दिनों से वे बीमार चल रहे थे। उनका निधन हम सबों के लिए बहुत दुःखद है। जॉर्ज साहब का जो योगदान इस देश की राजनीति में रहा है और जो कुछ भी उन्होंने समाज के लिए किया है वह सदैव याद रखा जाएगा।

सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र ने बताया कि जॉर्ज साहब सिद्धांत के प्रति, समाजवादी विचारधारा के प्रति उनकी प्रतिबद्धता सदैव रही। अपनी युवा अवस्था से ही उन्होंने जिस ढंग से लोगों के हक की लड़ाई लड़ी, जिस तरह से मुम्बई में श्रमिकों का नेतृत्व किया उसे भी भुलाया नहीं जा सकता है। संसद में भी उनका योगदान काफी महत्वपूर्ण रहा। जब 1977 और 1989 में सरकार बनी तो उसमें वे शामिल रहे। जब 1998 में सरकार बनी उसमें उनकी भूमिका रक्षा मंत्रालय, रेल मंत्रालय एवं अन्य मंत्रालयों में भुलायी नहीं जा सकती है।

मौके पर बालू पर बनायीं गयी जॉर्ज साहब की जीवंत प्रतिमा पर उपस्थित जदयू नेता रामपुकार सिन्हा, मंगल कुशवाहा, मुकेश कुमार रजक,  पूर्व जिप शंकर प्रसाद गुप्ता, पूर्व सरपंच जयंत कुमार, जिप पति प्रभू नारायण, भाजपा नेता नागेश्वर प्रसाद, रालोसपा नेता राजमंगल कुशवाहा, छबिलाल साह, नरेश साह, दिलीप प्रसाद, छोटू , अशोक प्रसाद, चंदन रिस्क, रौशन , पवन, सहित बड़ी संख्या में सैकड़ों सभी पार्टी के नेतागण एवं कार्यकर्त्ताओ ने पुष्व अर्पित कर श्रंद्धाजलि दी।

Post A Comment: