गणतंत्र दिवस के अवसर पर मोस्ट कल्याण संस्थान के निदेशक शिक्षक श्यामलाल निषाद ने कहा कि बाबा साहब ने भारत के संविधान में लोकतंत्र के साथ-साथ गणतन्त्रात्मक व्यवस्था
को समाहित कर दबे- कुचलों व पिछड़ों को देश और प्रदेश का हुक्मरान बनाने का मुकम्मल इंतजाम कर गए है। फिर भी देश का बहुत बड़ा वर्ग जो समस्याओं व गरीबी से ग्रस्त है! अपने वोट के अधिकारों का सही उपयोग कर अपनी बदहाली से मुक्ति पा सकते है।

Post A Comment: