साइबर क्राइमर को पुलिस ने किया गिरफ्तार।

समस्तीपुर से एम नईमुद्दीन आज़ाद की रिपोर्ट !

समस्तीपुर :  समस्तीपुर नगर थाना पुलिस ने गत 28 दिसम्बर को रितीश राज साजनपुर वारिसनगर निवासी को चकमा देकर साइबर क्राइम से जुड़े एक पुलिस के सामने ही मोबाइल से 45 हजार 500 सौ रुपये ट्रांसफर करने वाले रवि कुमार सिंह को गिरफ्तार  करने में सफलता हासिल कर ली है। यह मामला तब हुआ जब साइबर क्राइम को देख रहे विनय कुमार शर्मा ने रितीश को शंका के आधार पर समस्तीपुर के स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के प्रधान शाखा के पूछताछ के क्रम में थानां लाए थे। इसी क्रम में कई माह पूर्व मास्टर रोल पर काम किए एक माह काम करने वाले रवि कुमार सिंह से रास्ते मे मुलाकात हो गई और वह साथ मे थानां आ गया। साइबर क्राइम सेल के विनय कुमार शर्मा रितीश राज से पूछताछ करने आरम्भ कर दिया और उसके मोबाइल से जानने का प्रयास करना चाह रहा था कि कहाँ और क्या करना चाहता है। चूंकि मोबाइल का स्क्रीन लॉक था जिसके कारण मोबाइल नही खुल पाया। इस बीच रवि कुमार सिंह ने चालाकी से स्क्रीन लॉक खोलने के नाम पर मोबाइल ले लिया और कुछ दूरी पर जाकर अपने सहभागी केशव परासर जो बेगूसराय का रहने वाला है उसके अकाउंट में 45 हजार 500 सौ रुपये ट्रांसफर कर दिया।
 यह मामला का उदभेदन तब हुआ जब रितीश राज अपने बैंक से रुपए निकालने पहुंचे तो वे हतपर्व हो गए तत्क्षण उन्होंने इसकी जानकारी पुलिस अध्यक्ष समेत अन्य पुलिस पदाधिकारियों को दिया। नगर थाना अध्यक्ष चतुर्वेदी सुधीर कुमार ने इस मामले को गम्भीरता से लेते हुए छानबीन कर दिया। उन्होंने पीड़ित के आवेदन पर साइबर सेल के विनय कुमार शर्मा से पूछताछ कर जानकारी हासिल की। जांच के क्रम में पता चला कि रवि कुमार सिंह ने पीड़ित का मोबाइल स्क्रीन लॉक खोलने के नाम पर लिया था। बैंक से भी यह बात की पुष्टि हो गई कि बैंक से ट्रांसफर किए गए पैसे केशव परासर के अकाउंट में भेजे गए थे। पुलिस उपाधीक्षक प्रीतिश कुमार ने नगर थाना पर संवाददाताओ से बताया कि गिरफ्तार अपराधी वैशाली जिले के देशरी थानां अंतर्गत नया गंज गाँव के बलवीर प्रसाद सिंह का पुत्र है जो समस्तीपुर के बीएड कॉलेज के पास अपने जीजा विजय कुमार के मकान में रहता है। उन्होंने यह भी कहा कि उसने अपने बहनोई को भी पूर्व में चुना लगा चुका है। पीड़ित के बयान पर थाने पर प्राथमिकी दर्ज कर गिरफ्तार अपराधी को जेल भेजा जा रहा है।

Post A Comment: