दिल्ली हाई कोर्ट ने बंदरों के बढ़ते उत्पात को देखते हुए उनकी नसबंदी की इजाज़त दे दी है.

हाई कोर्ट की मंजूरी के बाद अब दिल्ली सरकार के वाइल्ड लाइफ़ डिपार्टमेंट के अधिकारियों को आदेश दिया गया है कि वो बंदरों की नसबंदी शुरू कर दें. दिल्ली में बंदरों की संख्या एक लाख के क़रीब है और इनकी आबादी को नियंत्रित करने के लिए पहले चरण में 25 हज़ार बंदरों की नसबंदी की जाएगी.

दिल्ली के कई इलाकों में लोगों को बंदरों की वजह से खासी परेशानी उठानी पड़ती है. कई बार तो बंदर संसद भवन के परिसर तक में घुस जाते हैं. इससे पहले बंदरों को पकड़कर जंगल में छोड़ा गया और उन्हें डराकर भगाने के लिए लंगूर लाए गए लेकिन इससे कुछ ख़ास फ़ायदा नहीं हुआ.

बंदरों के आतंक को स्थायी तौर पर हल करने के लिए न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी रेज़िडेंट वेलफ़ेयर असोसिएशन ने दिल्ली हाई कोर्ट में एक याचिका दायर की थी जिसके सुनवाई में अदालत ने बंदरों की नसबंदी को मंजूरी दी.

Post A Comment: