एस टी एफ की टीम और अपराधियों में मुठभेड़,जानेपुरा मामला

जिला रिपोर्टर धर्मपाल पटेल 
 सहयोगी अनिल पासवान
       पी न्यूज वैशाली 

वैशाली:-महनार के पलवैया दियारा क्षेत्र में अपराधीयों एवम् एस टी ऍफ़ की टीम में मुठभेड़, इस अभियान में तीन अपराधी मारे गए एवम् तीन को पुलिस ने किया गिरफ्तार, घटना के बाद सर्च ऑपरेशन में पुलिस ने, दो एके-47 राफइल और दो पिस्टल आदि बरामद किया,अपराधियों को पकड़ने के लिए पुलिस का सर्च ऑपरेशन दिन भर चला
महनार 16 मार्च-महनार थाना क्षेत्र के बहलोलपुर दियारा  से सटे पलवैया दियारा में शनिवार अहले सुबह एसटीएफ और अपराधियों के बीच मुठभेड़ हुई। इसमें तीन अपराधी मारे गए और तीन गिरफ्तार हुए। पुलिस ने अपराधियों के पास से दो एके-47 राफइल और दो पिस्टल सहित भरी मात्रा में कारतूस बरामद की हैं। कई और अपराधियों को भी गोली लगी है ।मौके से भागे अपराधियों को पकड़ने के लिए पुलिस सर्च ऑपरेशन चला रही है।पुलिस को सूचना मिली थी कि दियारा में अपराधी छिपे हैं। पुलिस ने शनिवार तड़के अपराधियों के ठिकाने की घेराबंदी की। पुलिस को देखते ही अपराधियों ने गोलीबारी शुरू कर दी। जवाब में पुलिस के जवानों ने भी फायरिंग की। दोनों तरफ से हुई गोलीबारी में तीन अपराधी मारे गए।अपराधियो का गैंग एक माह से दियारा में  था सक्रीय। अपराधियो के ऐशो आराम की सारी सुबिधा दियारा क्षेत्र बहलोलपुर एवम् पलवैया में उपलब्ध थी। अपराधी का जहाँ ठिकाना था वहा जनरेटर सहित अन्य सुबिधाये उपलब्ध थी।
मुठभेड़ में  मारे गए अपराधियों में मनीष सिंह और उसके गिरोह के लोग शामिल बताये गए हैं। मनीष सिंह का गिरोह जयपुर, कोटा, कोलकाता समेत कई शहरों में सोना लूट की वारदात को अंजाम दे चुका था। कई राज्यों की पुलिस एसटीएफ को मनीष के गिरोह की तालाश थी। एसटीएफ की स्कॉड टीम और अभियान दल ने मिलकर कार्रवाई की। जानकारी के मुताबिक महनार थाने की हसनपुर दक्षिणी पंचायत के बहलोलपुर दियारा से सटे पलवैया  दियारा में कुछ अपराधियो के छिपे होने की सूचना मिलने पर पटना की एसटीएफ टीम ने कार्रवाई शुरू की। पुलिस को देख अपराधियों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी फायरिंग की।इस मुठभेड़ में पुलिस ने मनीष गैंग के तीन अपराधियों को मार गिराया।वहीं, कई अपराधियों को गोली लगने की सूचना है।बताया जाता है कि  दो अपराधी गंभीर रूप से घायल हैं।पटना एसटीएफ ने पुष्टि करते हुए बताया है कि दो एके-47 समेत राइफल और पिस्टल की भी बरामदगी की गयी है।वहीं, वैशाली के आरक्षी अधीक्षक मानवजीत सिंह ढिल्लो ने बताया की  अभी  ऑपरेशन है।उन्होंने बताया है  इस सम्बन्ध में और जानकारियां हाशिल की जा रही है। वही सूत्र बताते है की मारे गये अपराधियों के तार राजस्थान के सोना लूट कांड से जुड़े हैं मारे गये तीन अपराधियों में से दो की पहचान हुई है।इनमें राजस्थान में सोना लूट समेत कई संगीन कांडों में शामिल मनीष के अलावा खान भी मारा गया। तीसरे अपराधी की शिनाख्त की जा रही है।मारे गए तीनों अपराधियों की शिनाख्त मनीष सिंह (थाना राघोपुर, वैशाली), अब्दुल इमाम (थाना मनियारी, मुजफ्फरपुर) और अब्दुल अमन(समस्तीपुर) के रूप में हुई है। बाकी जो तीन अन्य गिरफ्तार हुए हैं उनमें विनोद कुमार सिंह (थाना जुड़ावनपुर), मुकेश कुमार सिंह (थाना सालीमपुर, पटना) और बच्चु शाह (थाना महनार, वैशाली) शामिल हैं। बता दें कि यह क्षेत्र गंगा के दक्षिण दियारा में पड़ता है।  और अपराधी पलवैया के बलुआ टोले में छिपे थे। पूरे इलाके को पुलिस ने खाली कराया है। एसटीएफ ने मुठभेड़ में गोल्ड लुटेरा मनीष को उसके दो साथियों के साथ ढेर किया है। मनीष के बारे में बताया जा रहा है कि वह देश के अलग-अलग हिस्सों में सोना लूट में शामिल रहा था। मनीष वैशाली जिले के ही हाजीपुर हथससरगंज का रहने वाला बताया जा रहा राजस्थान से लूटे गए सोने के बंटवारे के लिए दियारा इलाके में अपराधी जुटे थे।स्थल पर एस पी ,ए एस पी, डी एस पी महनार, एस डी ओ महनार, थाना अध्यक्ष महनार,सी ओ महनार एवम् फोरेंसिक जाँच की टीम पहुँची और ताबरतोर सर्च ऑपरेशन की।

Post A Comment: