पलटन साहनी के साथ ब्रजेश कुमार की रिपोर्ट
समस्तीपुर  जिला के रोसरा अनुमंडल रोसरा गोशाला समिति रोसरा दिनांक 8/7/1952 से बने गौशाला की एक झलक वर्ष 1917 में बनी कमिटी अनुमंडल पदाधिकारी रोसरा अध्यक्ष देवेंद्र प्रसाद नायक उपाध्यक्ष रमेश पूर्व कोषाध्यक्ष सुरेंद्र कुमार सिंह अंशु सचिव है रोसरा गौशाला की अस्थापना अंग्रेजी शासनकाल 1903 में  हुइ रोसरा महान विभूति एवं गौ भक्त गणपत राय स्वर्गीय मेमराज लखोटिया स्वर्गीय विश्वनाथ लखोटिया के मामा एवं अन्य पुण्य आत्माओं के द्वारा रोसरा गोशाला की स्थापना की गई रोसरा नगरपालिका के सामने गोचर भूमि के लिए 7 एकड़ जमीन खाता नंबर 240 खेसरा नंबर 29 गंदे की नाथ मंदिर के पास बुधी गंडक नदी तट पर विभिन्न खेसरा में  गौ सेवकों द्वारा दान स्वरूप प्राप्त हुआ है वर्तमान में गाय की संख्या 82 बच्ची 34 जिसमें बाछा19तथा,14बाछी  गौशाला में कार्यरत देव माया अशोक लाल लखोटिया  परिवार के रतन देवी मुरारी चौधरी गौ सेवक अमर प्रताप सिंह गौशाला सेवक ब्रह्मदेव मिश्र राम नरेश महतो मुकेश महतो बैजनाथ झा अमरिंदर चौधरी राधे माता चंद्रशेखर पासवान राम कुमार महतो रसोईया रिंकु देवी गौशाला में मौजूद थे उन्होंने बताया प्रतिदिन 125 लीटर से 130 लीटर दूध उत्पादन होता है रोसड़ा विकसित गौशाला है
देशी गोवंश के संरक्षण संवर्धन पर उच्च कोटि का दूध आपूर्ति करना गोबर एवं गोमूत्र के बदौलत पंचगव्य एवं इस से निर्मित आयुर्वेदिक औषधियां तैयार कर एलोपैथिक मेडिसिन का विकल्प देना चाहते हैं गौ सेवक कहते हैं गोवंश की रक्षा करें गो बस रत्न सागर से भंडार भारत का भरे

Post A Comment: