दहेज के लोभियों ने विवाहिता को उतारा मौत के घाट न्याय के लिए दर दर भटक रहे हैं परिजन


बहराइच थाना हुजूरपुर के अंतर्गत ग्राम लौकाही की रहने वाली रफ़ीका पत्नी युसूफ अली ने अपनी पुत्री का निकाह लगभग 6 लल्ल पूर्व ताज मोहम्मद उर्फ़ भोंदर पुत्र सबदर निवासी टेंडी थाना कटरा बाजार जिला गोंडा के साथ किया था lनिकाह के बाद नसीबुन उर्फ़ ननकई अपना पारिवारिक जीवन ब्यतीत करने लगी लेकिन निकाह के कुछ महीनो के बाद ही लड़की के ससुराल वालों ने अतिरिक्त दहेज़ की मांग करने लगे परिजनों के बयान के मुताबिक़ नसीबुन जब भी घर आती थी तब यही बताया करती थी की हमारे ससुराल वाले हमेशा मुझे प्रताड़ित कर रहे हैं कि यदि तुम अपने मायके से एक लाख रूपये लेकर नहीं आओगी तो मै तुम्हे घर से भगा दूंगा जिस पर नसीबन ने अपने मायके वालों को फोन करकर सारी बात बता दियाl जिस पर नसीबन के मायके वालों ने उसके ससुराल जाकर सभी से विनती करकर कहा कि मेरी इतनी हैसियत नहीं है कि मैं एक लाख रूपये दे पाऊं मुझसे जो हो सका है वो मैंने निकाह के समय दिया था इतना सुनकर नसीबुन के माता पिता को उसके ससुराल वाले भद्दी गालियां देने लगे और कहा कि मैं तुम्हारी लड़की का गुजर बसर नहीं कर पाऊंगा एक गरीब माता पिता क्या करते सबकी बातों को सुनकर भी अपनी बेटी को समझाकर वापस चले आये lदिनांक 09-02-2019 को नसीबुन ने फोन किया कि भैया मुझे मेरे पति बहुत मार पीट रहे हैं अगर आप लोग मुझे जिन्दा देखना चाहते हो तो एक लाख रूपये मेरे ससुराल वालों को दे दो वरना ये लोग मुझे मार डालेंगे जिस पर नसीबुन के भाई ने अपनी बहन को समझाया कि हम लोग कल आपके घर आएंगे अगले दिन सुबह सभी लोग जाने की तैयारी में थे कि इतने में नसीबुन के ससुराल से फोन आ गया जिसमें ये सूचना दी गयी कि आपकी बहन की कल रात में मृत्यु हो गयी है जिस पर नसीबुन के मायके वाले और गांव के कुछ लोग ससुराल पहुंचे और सबसे पूँछा गया कि क्या हुआ है लेकिन किसी ने कुछ नहीं बताया और न ही नसीबुन को दिखाया गया lरोते बिलखते परिवार वालों ने सम्बंधित थाना हुजूरपुर की पुलिस को उक्त घटना की सूचना दी गयी मौके पर कोई पुलिस नहीं आयी और लड़की के मायके वालों को बिना देखे ही डरा धमका कर वहां से भगा दिया l इसके बाद नसीबुन के शव को बिना मायके वालों के दिखाए ही दफना दिया गया है जिस पर लड़की के मायके वालों का शक विश्वास में तब्दील हो गया है l न्याय पाने के लिए मृतक लड़की के परिजन दर दर की ठोकरें खाने पर विवश हैं l थाने के चक्कर काटकर परिजनों का बुरा हाल है जिससे अब परिजनों ने अदालत का दरवाजा खटखटाया है और लड़की के शव को पुनः खोदकर पोस्टमार्टम कराने की मांग की है l

Post A Comment: