पलटन साहनी की रिपोर्ट
 समस्तीपुर जिला रोसड़ा
अनुमंडल ने बहुचर्चित तेजाब कांड के फैसले होने से पीड़िता सीता देवी ने न्यायपालिका पर पूर्ण भरोसा जताया है गरीबी की मार से जूझते रही पीडिता न्यायपालिका के फैसला पर भरोसा जताते हुए संतोष व्यक्त किया है बहुचर्चित तेजाब कांड में गरीबी की मार को जलते हुए पीड़िता के साथ मुकदमा उठाने के लिए अन्यय प्रकार का उत्पीड़न झेलना पड़ा जिसके परिणाम स्वरूप उक्त कांड के सूची का का पुत्र कृष्ण कुमार उर्फ टुनटुन आज भी झूठा मुकदमा में जेल में सड़ रहा है अब वह मुकदमा के फैसले का इंतजार कर रही है साथ ही न्याय के इस मंदिर में ईश्वर से प्रार्थना कर रही है कि दोषी के विरुद्ध कड़ी से कड़ी सजा मुकर्रर किया जाए ताकि समाज में कानून और न्यायपालिका के प्रति आस्था कायम रख सके और वह समाज के लिए नजीर साबित हो सके कि भविष्य में कोई भी ऐसा दुशासी तेजाब ऐसे गंभीर अपराध पूर्णा वृत्ति नहीं हो सके संक्षिप्त कहानी यह है कि उक्त कांड में सुचिका सीता देबी किसी मामले में जमानत कराने रोसड़ा व्यवहार न्यायालय में जा रही थी कि तेजाब कांड के अभियुक्तों ने एक राय कर लाठी डंडा इटा पत्थर से निर्मता पूर्वक जान मारने की नीयत से जख्मी कर दिया तथा उससे भी जब अभियुक्तों को संतोष नही हुआ तो मुंह में पानी के बदले तेजाब डाल दिया था जिसमें एक विश्वनाथ दास की मौत अस्पताल जाने के क्रम में हो गया तथा दो की मौत पीएमसीएच पटना में हो गई रोसड़ा जिला सत्र न्यायाधीश प्रथम वेद प्रकाश प्रकाश के न्यायालय से उपरोक्त अभियुक्त गण को आजीवन कारावास के साथ-साथ ₹25000 अर्थदंड सश्रम कारावास की सजा दी गई जो सभी सजाएं साथ साथ चलेगी

Post A Comment: