P NEWS कांडी से

गिरिडीह । भारत की 70 फीसदी आबादी गांव में रहती है। यहां पश्चिमी औद्योगिकीकरण को थोप दिया गया। किसानों की सुध किसी ने नहीं ली। किसान आत्महत्या को मजबूर हुए। किसानों की क्रय शक्ति को बढ़ाने, उनकी आय को दोगुना करने के लिए 2014 के बाद केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना प्रारंभ किया गया। इसके तहत देशभर के किसानों को अगले 10 वर्ष तक कृषि कार्य के लिए 6 हजार रुपये प्रदान किए जाएंगे। केंद्र सरकार की योजना से प्रभावित होकर और किसानों को डबल फायदा देने के उद्देश्य से राज्य सरकार ने भी मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना का शुभारंभ किया। इस योजना के तहत आज आपको द्वितीय किस्त की 25 % राशि दी जा रही है। आने वाले दिनों में तीसरा किस्त भी आपको प्राप्त होगा। सरकार ने झारखंड के 35 लाख किसानों के खाते में 3 हजार करोड़ रुपए देने का लक्ष्य तय किया है। इस योजना से वंचित किसान जल्द अपना निबंधन कराएं और योजना की पहली व दूसरी किस्त का लाभ लें। ये बातें मुख्यमंत्री रघुवर दास ने बुधवार को गिरिडीह में मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना के तहत दी जाने वाली द्वितीय किस्त वितरण समारोह में कही। आज 24 लाख 53 हजार से अधिक किसानों को 400 करोड़ रुपये दिए।

किसी के समक्ष हाथ नहीं पहन आएंगे किसान : मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार ने 2022 तक किसानों की आय को दुगना करने और उनकी क्रय शक्ति बढ़ाने का लक्ष्य रखा है। किसानों को योजना के तहत मिल राशि उन्हें कृषि संसाधन जुटाने में सहायक होगी। सरकार की सोच है। किसान किसी के समक्ष हाथ ना फैलाएं, बल्कि खुद की राशि से कृषि कार्य करें।

Post A Comment: