रेहला बिश्रामपुर। लालगढ़ पंचायत सहित प्रखंड को 2 वर्ष पूर्व हीं कागजों पर ओडीएफ किया जा चुका है। धरातल पर लालगढ़ के आधे से अधिक घरों में शौचालय नहीं है। आज भी गांव की महिला पुरुष खेतों में शौच आदि क्रिया के लिए जा रहे हैं।
इसी क्रम में मां-बेटी सहित एक गर्भवती महिला की मौत हो गई। इसके लिए जिम्मेवार प्रखंड व पंचायत के अधिकारी भी हैं। जो झूठी रिपोर्ट देकर पंचायतों को ओडीएफ बनाने में अपनी भूमिका स्थापित की है। ऐसे लोगों पर कार्रवाई होनी चाहिए। उक्त बातें युवा कांग्रेसी नेता सह पूर्व विश्रामपुर विधानसभा प्रत्याशी अजय कुमार दुबे ने कहा। वे लालगढ़ तीनों महिलाओं की दाह संस्कार में शामिल होने पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि अगर गांव में पर्याप्त शौचालय होती तो यह हृदय विदारक घटना नहीं घटती। जिसमें पूरा परिवार बर्बाद हो गया।

Post A Comment: