चंद्रशेखर महाजन स्टेटहेड मध्यप्रदेश


मध्यप्रदेश के खण्डवा जिले की जनपद पंचायत पंधाना में आज दिनांक 30 ऑक्टोम्बर को पंधाना जनपद के ग्राम रोजगार सहायक सचिव वेतन को लेकर आज जनपद पंधाना में  CEO को ज्ञापन दिया गया।*

दीपावली के पावन पर्व पर कर्मचारियों को बोनस दिया जाता है किंतु पंधाना जनपद में बिना कोई शासन के आदेश के हड़ताल अवधि का ग्राम रोजगार सहायक सचिवो की 8 दिन की सैलरी काट कर दीपावली का तोफा दिया गया पर अन्य जनपद जैसे पुनासा व हरसूद में पूरी सेलरी दी गई। जब जिले के कर्मचारी एक जैसे है तो सेलरी अलग अलग तरीके से क्यो। ऐसा क्यों इसको लेकर संघ दुवारा CEO को ज्ञापन दिया गयासंघ के पदाधिकारियों का कहना है कि हर माह किसी न किसी कारण से ग्राम रोजगार सहायक की सैलरी काटी जाती है । पंचायत विभाग के 52 प्रकार के कार्य के अलावा सभी ऑनलाईन व ऑफलाइन व फील्ड के कार्य GRS दुवारा किया जाता है इतने कामो में कोई न कोई कार्य आगे पीछे रह जाता है उसको टारगेट करके हर माह उनकी सेलरी काटी जाती बल्कि उसी विभाग के सभी कर्मचारियों को समय से सेलरी हर माह पूरी दी जाती है संघ का कहना है कि कार्य की प्रगति में जिम्मेदार केवल GRS ही नही है उस विभाग के सभी कर्मचारि है किंतु सिर्फ छोटे कर्मचारियों को टारगेट किया जाता है आज तक 09 वर्षो में केवल ग्राम रोजगार सहायक को ही सेलरी काटी गई है अन्य किसी की भी नही
संघ की मांग है*

1. सेलरी की नोटशीट चलाने व अपलोड करने का कार्य APO सर करोलिया जी को दिया जाए। क्योकि अभी रायकवाद के पास है जो बिना आदेश के हर माह किसी न किसी की सैलरी काट देता है

2. हर माह की 1 तारीख को सेलरी अन्य कर्मचारियों की भांति समय से अपलोड किया जाये।

3 ऑक्टोम्बर की 8 दिन की काटी हुई सेलरी वापस दी जाए।

4 यदि कार्य की प्रगति कम पाई जाती है 52 प्रकार के कार्य में से तो सिर्फ GRS की सैलरी नही काटी जाए बल्कि नीचे से लेकर जनपद स्तर के सभी कर्मचारियों को सेलरी काटी जाए। क्योंकि जिम्मेदार सिर्फ अकेला GRS नही है

ये सभी मांगे तत्काल पूर्ण की जाए। वार्ना संघ दुवारा आंदोलन की राह पर जाना पड़ेगा। ये सब संघ के ब्लाक अध्यक्ष शैलेन्द्र सिंह तोमर ने बताया। वहाँ पर संघ के सभी पदाधिकारि व सभी GRS उपस्थित थे।

Post A Comment: