चंद्रशेखर महाजन मध्यप्रदेश

ओंकारेश्वर (निप्र) - तीर्थनगरी में दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन का सिलसिला सोमवार से ही शुरू हो गया था। स्थानिय प्रशासन द्वारा ब्रम्हपुरी घाट के उपर बनाए गए कुंड में प्रतिमाओं का विसर्जन कराया गया। इधर सुरक्षा की दृष्टि से प्रशासन मुस्तैद रहा।
       दुर्गा प्रतिमाओं को विसर्जन के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु अपने-अपने निजी साधनों से ओंकारेश्वर, मोरटक्का, खेड़ीघाट नावघाटखेड़ी नर्मदा तट पहुंचे। सर्वोच्च न्यायालय के निर्देश बाद प्रशासन ने नर्मदा नदी में प्रतिमाओं के विसर्जन पर प्रतिबंध लगा रखा है। नगर पंचायत ने ओंकारेश्वर बांध के नीचे बने कुंड में नर्मदा का जल मोटर पंप द्वारा भरकर उसमें प्रतिमाओं का विसर्जन कराया गया। इसके लिए बाकायदा लाउडस्पीकर से लगातार श्रद्धालुओं को सूचना भी दी जा रही थी। मंगलवार को सुबह से बड़ी संख्या में छोटे वाहनों में माता के जयकारे लगाते हुए श्रद्धालु विसर्जन स्थल पहुंच रहे थे। नर्मदा तट पर पूजा-अर्चना एवं आरती कर माता की प्रतिमाओं को कुंडों में विसर्जन किया।
इस दौरान तहसीलदार उदय मण्डलोई एवं उनकी टीम को चिलचिलाती धूप में विसर्जन स्थल पर मुस्तैद होकर व्यवस्थाएं बनाते देखा गया।

Post A Comment: