विनय कुमार मिश्र, गोरखपुर ब्यूरों। तहसीलदार सदर  ने क्षेत्रीय लेखपाल के रिपोर्ट पर  तहसील सदर के थाना पिपराइच अंतर्गत ग्राम सभा जंगल औराही में 6 तथा जंगल धूषण में तीन लोगों और थाना खोराबार के ग्राम लालपुर टीकर में एक सहित  दस लोगों के विरुद्ध 2500-2500 का अर्थ दण्ड तथा सम्बन्धित थाने में प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराया है ।इस सम्बन्ध में तहसीलदार सदर डॉ संजीव दीक्षित ने बताया कि बार बार दिये गये निर्देश के विपरित ग्राम सभा जंगल औराही निवासी राम वृक्ष, मोहनलाल, रामबेलास, गुलाब चंद,  शिवानंद तथा जंगल धूषण निवासी शंभूनाथ,छोटेलाल,  विजेन्द्र और लालपुर टीकर में चिन्ता देवी पत्नी चंद्रभान को मिला कर कुल 10 लोग खेत में पराली जलाते हुए पाये गये। क्षेत्रीय लेखपाल की सूचना की पुष्टि होने पर राजस्व निरीक्षक घनश्याम शुक्ल ने सभी नौ लोगों के विरुद्ध विधि व्यवस्था के तहत 2500-2500 रूपये जुर्माना जमा करने की नोटिस दी है  साथ ही पिपराइच थाने में आरोपियों के विरुद्ध मुकदमा भी पंजीकृत कराया जायेगा । तहसीलदार सदर द्वारा बताया गया कि पर्यावरण संरक्षण सर्वोपरि है ! पराली न जलाने के लिए कृषकों को डुग्गी मुनादी आदि के द्वारा जागरूक किया जा रहा है ! इसका उल्लंघन करने वालों पर कठोर कार्यवाही की जाएगी।

जागरूकता व पराली के उचित प्रबंध न होने के कारण परेशान है किसान। 
शासन प्रशासन कुछ भी कहे लेकिन हकीकत यह है कि सैकड़ो गाँवों में पराली जलाने न जलाने के विषय में किसी को कुछ नहीं पता है यही नहीं किसानों के अंदर एक प्रकार का आक्रोश है कि आखिर पराली का क्या करें? बिना पराली जलाये तो गुनाह न जलाये तो जुताई नहीं होगी। एक तरह से किसान आज दो राहे पर खड़ा है। आगे कुआँ पिछे खाई वाली स्थिति हो गई है। गाँवों में पराली न जलाने के लिए कोई जागरूकता नहीं फैलाई जा रही है और उल्टे ही कारवाई की जा रही है डर है कि इसका खामियाजा शासन प्रशासन को भुगतना न पड़ जाए।

Post A Comment: