विनय कुमार मिश्र, गोरखपुर ब्यूरों। काफी दिनों से नगर पंचायत मुण्डेरा बाजार में अवैध आवास का मुद्दा छाया ही था कि बुधवार को एक और मामले ने नगर को चर्चा में ला दिया। मालुम हो कि आए दिन कोई न कोई अवैध आवास के मुद्दे को लेकर तहसील का चक्कर लगा ही आता है। इसी प्रकार के मामले की जांच कर रहे एक लेखपाल ने चौरी चौरा थाने में बुधवार को तहरीर दी की उसके साथ मारपीट की गई है।प्राप्त खबर के अनुसार नगर पंचायत मुंडेरा बाजार के पूर्व चेयरमैन व वर्तमान चेयरमैन प्रतिनिधि ज्योति प्रकाश गुप्ता ने स्थानीय थाने पर तहरीर देकर नगर के निवासी लेखपाल राजकुमार जयसवाल पर धमकी देने का आरोप लगाया है वहीं दूसरी और लेखपाल राजकुमार जयसवाल ने भी प्रधानमंत्री आवास योजना में पात्रों का नाम चयनित ना करने पर चेयरमैन प्रतिनिधि एवं सभासदों द्वारा मारपीट करने का आरोप लगाकर तहरीर दिया है।पुलिस दोनों पक्षों की तहरीर लेकर मामले की जांच कर रही है। नगर पंचायत मुंडेरा बाजार के निवासी राजकुमार जायसवाल तहसील के लेखपाल हैं।उनका आरोप है कि मंगलवार की शाम चेयरमैन प्रतिनिधि ज्योति प्रकाश गुप्ता एवं सभासदों ने प्रधानमंत्री आवास योजना की जांच को लेकर हमें मारा-पीटा और दूसरी ओर  ज्योति प्रकाश  गुप्ता का आरोप है कि राजकुमार जायसवाल ने आधा दर्जन साथियों के साथ गाली-गलौच की और मेरे कुछ साथियों को जातिसूचक गालियाँ दी। दोनों लोगों ने एक दूसरे पर आरोप लगाकर मुकदमा दर्ज करने के लिए तहरीर दिया है। इस दौरान लेखपाल राजकुमार जयसवाल के समर्थन में उनके लेखपाल साथी आए थे तो वहीं दूसरी ओर पूर्व चैयरमैन व चेयरमैन प्रतिनिधि के समर्थन में नगर के सभासद अखिलेश जायसवाल विनोद जयसवाल जयसवाल व सभासद प्रतिनिधि मोहित जायसवाल आए हुए थे।चैयरमैन प्रतिनिधि ने सवाल उठाया कि राजकुमार जायसवाल इसी से जुड़े हुए हैं और इसी तहसील क्षेत्र में उनका घर फिर वो  प्रधानमंत्री आवास योजना की जांच कैसे कर सकते हैं? यह एक तरीके से नियम विरुद्ध है इनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।

Post A Comment: