गोरखपुर ब्यूरों।मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने मंडलायुक्त जयंत नार्लीकर सीडीओ अनुज कुमार एडीएम वित्त राजेश कुमार सिंह संयुक्त आयुक्त उग्रसेन पांडेय कृषि वैज्ञानिक संजय यादव एवं जिलाधिकारियों को कड़े निर्देश दिये हैं कि वायु प्रदूषण को रोकने के लिए  पराली जलाने पर पाबंदी के निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन कराया जाए। उन्होंने कहा कि  रबी की फसल में बेसहारा जानवरों से क्षति होने की शिकायत मिलने पर जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों की जिम्मेदारी तय कर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। प्रत्येक जिले में एसडीएम व तहसीलदार को प्रमाणत्र देना होगा कि उनके क्षेत्र में कोई गोवंश निराश्रित नहीं है।मुख्य सचिव  वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जनकल्याणकारी योजनाओं एवं कार्यक्रमों की प्रगति की समीक्षा कर मंडलायुक्तों एवं जिलाधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि गोवंश संरक्षण स्थलों के क्रियाशील होने पर उनमें पशुओं को क्षमता के अनुरूप रखा जाए। इच्छुक एनजीओ से गोवंश संरक्षण केंद्रों का संचालन करा सकते हैं लेकिन उन्हें जमीन ट्रांसफर नहीं की जाएगी। अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि चारे व पानी के अभाव और ठंड के कारण प्रशासन की लापरवाही से किसी भी गोवंश की मृत्यु कतई न होने पाए,अस्पतालों में बेहतर सफाई की व्यवस्था न करने पर संबंधित एजेंसी के विरुद्ध तत्काल नियमानुसार कार्यवाही कर ब्लैक लिस्टेड कराने के निर्देश दिए। उन्होंने शरद ऋतु में निराश्रित लोगों को ठंड से बचाने के लिए उनके कंबल खरीदने की प्रक्रिया नियमानुसार यथाशीघ्र प्रारंभ की जाए। आवश्यकता के अनुसार रैन बसेरों का निर्माण कराकर यह सुनिश्ति कराया जाए कि प्रदेश में खुले स्थान पर सड़क पर या सड़क के किनारे कोई भी व्यक्ति सोने के लिए विवश न होने पाए तथा मजदूरों को मनरेगा के तहत अधिक से अधिक कार्य दिया जाए ताकि मजदूर अपना और अपने परिवार का जीवको पार्जन सही तरीके से कर सकें।

Post A Comment: