लालू परिवार और बहू ऐश्वर्या के बीच की लड़ाई रविवार को एक बार फिर सड़क पर आ गई।
पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी पर ऐश्वर्या द्वारा सामान छीनने और मारपीट का आरोप लगाने के बाद मामला पुलिस तक पहुंच गया। पुलिस ने राबड़ी देवी के आवास पर पहुंचकर मामले की जांच की। उल्लेखनीय हो कि लालू प्रसाद के बड़े पुत्र तेजप्रताप यादव और उनकी पत्नी एश्वर्या राय के बीच कोर्ट में तलाक का मामला चल रहा है।

रविवार की शाम पूर्व मुख्यमंत्री के आवास से बाहर निकलने के बाद ऐश्वर्या ने कहा कि उनकी सास ने उनका बाल नोचा और जमकर पिटाई की। एक महिला पुलिसकर्मी पर भी मारपीट का आरोप लगाया। इस पूरे घटनाक्रम के बाद राबड़ी देवी के आवास दस सर्कुलर रोड पर बाहर से ताला बंद हो गया।
ऐश्वर्या ने कहा कि राबड़ी देवी के इशारे पर साक्ष्य मिटाने के लिए उसका मोबाइल भी एक सुरक्षकर्मी ने छीन लिया। साथ ही सारा सामान रखकर उसे घर से बाहर निकाल दिया। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को भी पूरे मामले की जानकारी है।
उधर ऐश्वर्या के पिता पूर्व मंत्री चंद्रिका राय ने अपने दामाद तेजप्रताप को एक पागल लड़का बताया। साथ ही कहा कि हम राजनीतिक लड़ाई तो लडेंगे ही राबड़ी देवी को एक्सपोज भी करेंगे। जो घर की महिला को सुरक्षा नहीं दे सकती है वह बाहर की महिलाओं को क्या सुरक्षा देगी। ऐश्वर्या की मां पूर्णिमा राय ने आरोप लगाया कि ऐशवर्या को घर में खाना नहीं दिया जाता था। वह अपने घर से खाना उसे भेजती थी।

उधर इस मामले पर न तो तेजप्रताप यादव और न ही पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी का कोई बयान सामने आया लेकिन नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी ने मामले पर मीडिया से बातचीत में कहा कि यह सब ड्रामा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इशारे पर हो रहा है। असली मुद्दे से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए सरकार यह करा रही हे। यह दो परिवारों या दो लोगों का मामला है जो कोर्ट में चल रहा है। कोर्ट को ही इसका फैसला करना है।

उल्लेखनीय है कि इसके पहले भी राबड़ी देवी पर मारपीट का आरोप ऐश्वर्या ने लगाया था। उस समय उसके माता-पिता दोनों दस सर्कुलर रोड पर पहुंचकर धरने पर बैठ गये। बाद में देर रात सुलह के बाद ऐश्वर्या को उसकी ससुराल में जगह मिली थी।

Post A Comment: