पी न्यूज़
बबलु के रिपोर्ट
13/12/2019

डाल्टनगंज : झारखण्ड जर्नलिस्ट एसोसिएशन के पलामू प्रमंडल के पत्रकारों ने शुक्रवार को चट्टानी एकता दिखाते हुए पलामू के चार पत्रकारों पर हुए फर्जी मुकदमें का जमकर विरोध प्रदर्शन किया। बैठक में पत्रकारों ने सर्वसम्मति से एक निंदा प्रस्ताव पारित किया। पलामू परिसदन में बैठक की अध्यक्षता संगठन के संस्थापक- शहनवाज हसन ने किया। बैठक में मुख्य रुप से जेजेए पलामू जिला अध्यक्ष- संजय मिश्रा,गढ़वा अध्यक्ष- सियाराम शरण वर्मा,लातेहार जिला अध्यक्ष- अतुल वर्मा, रांची के वरिष्ठ पत्रकार- लल्लन पांडेय,पलामू जिला प्रभारी- अनुज चौबे,महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश अध्यक्ष- निशा रानी गुप्ता, प्रदेश सचिव- संजय सिंह उमेश,चंदवा इकाई के अध्यक्ष- सुरेंद्र वैध, मनीष पाठक, गारू प्रखंड अध्यक्ष- कृष्णा जी,प्रदेश प्रवक्ता- संतोष श्रीवास्तव,मनोहर कुमार, संजीत यादव, विवेक सहाय,वरुण, संदीप चौरसिया, अवधेश शुक्ला, शैलेन्द्र तिवारी, नीलकमल शुक्ला, अश्विनी घई, मोरध्वज पांडेय, जेजेए के छतरपुर अध्यक्ष- रंजीत सिंह, धनंजय कुमार, नंदन कुमार, शिवेंदु कुमार, संजय सिन्हा, कल्याण कुमार सहित दर्जनों पत्रकार उपस्थित थे। बैठक में दूरभाष पर पलामू के डीआईजी- अमोल वेनुकान्त होमकर से बात कर शाहनवाज हसन ने वस्तुस्थिति की जानकारी दी ।डीआईजी ने संगठन को आश्वस्त किया है कि घटना की निष्पक्ष जांच होगी। बैठक में पत्रकारों ने इस बात की निंदा की कि एक पत्रकार द्वारा अपने निहिर्थ स्वार्थ की पूर्ति के लिये चार निर्दोष पत्रकारों पर फर्जी मुकदमा निजी लाभ के लिये दर्ज कराया गया।बैठक में उपस्थित पत्रकारों ने संबंधित पत्रकार का सामाजिक बहिष्कार करने का निर्णय लिया । शाहनवाज़ हसन ने पूरे मामले की उच्च स्तरीय जांच की मांग झारखण्ड के मुख्य निर्वाचन अधिकारी के समक्ष भी करेंगे। ज्ञात हो कि विधानसभा चुनाव में कवरेज कर रहे पत्रकार ने जिन चार पत्रकारों पर आरोप लगाया है, उनमें से दो पत्रकार के साथ अपने चैनल पर वे लाइव कार्यक्रम घटना के बाद करते दिखाई दिये हैं,जो यह दर्शाता है घटना पूरी तरह से सुनियोजित रही है, जिसकी निष्पक्ष जांच होने पर पर्दे के पीछे का खेल खुल कर सामने आयेगा। आज पलामू के पत्रकारों ने चट्टानी एकता का परिचय देते हुए गढ़वा लातेहार व मेदनीनगर के 50 से अधिक पत्रकार शामिल हुए।

Post A Comment: